LOGO CSIR
LOGO NEERI

इलेक्ट्रोलिटीक (विद्युत-अपघटनी) डीफलोरीडेशन तकनीक(ईडीएफ)

 

इलेक्ट्रोलिटीक (विद्युत-अपघटनी) डीफलोरीडेशन तकनीक(ईडीएफ)

 

भारत मेंएक अनुमान के अनुसार अतिरिक्त फ्लोराइड दूषित पानी के उपयोग के कारण 62 लाख लोग फ्लोरोसिस से पीड़ित है जिसमें से 6 लाख बच्चोंतो बच्चे ही हैं। की वजह से खपत के लिए सहित का अनुमान है। भारतीय मानक ब्यूरोतथा डब्ल्यूएचओ के दिशानिर्देशोंके अनुसार पीने के पानी में फ्लोराइड की वांछनीय सीमा 1.0मिलीग्राम/एलके है जो कि वैकल्पिक स्रोत के अभाव में 1.5मिलीग्राम/एलतक बढ़ाई जा सकती है।फ्लोराइड प्रभावित क्षेत्र के लिए इलेक्ट्रोलिटीक डीफलोरीडेशन प्रक्रिया एक उपयुक्त जल शोधन प्रणाली हैजिसमें अतिरिक्त फ्लोराइड युक्त पानी स्वच्छ किया जाता है। डीफलोरीडेशनप्रक्रिया इलेक्ट्रोलिसिस के सिद्धांत पर आधारित है जिसमें अतिरिक्त फ्लोराइड युक्त पानी में एल्यूमिनियम प्लेट इलेक्ट्रोडके रूप में रखा जाता है। इलेक्ट्रोलिसिस के दौरान, एनोडआयनित हो जाता है और फ्लोराइड जटिल गठन,  अधिशोषण(ऐड्सॉर्प्शन), अवक्षेपण (प्रीसिपिटेशन), जमावट (कोऐग्युलेशन) और स्थायीकरण (सेटलिंग ) से निकाल दिया जाता है

 

Implementation

 

Adiwasi Kanya Shiksha Parisar , Chindwara Dist. (M.P.)

 

Sargapur, Seoni Dist. (M.P.)

 

Usarwara,  Dist. Durg. (C.G.)

 

 

Dongargaon, Chandrapur Dist. (M.S.)

 

Adiwasi Kanya School , Chindwara Dist. (M.P.)

 

मुख्य विशेषताएं

  • एल्यूमीनियम इलेक्ट्रोड के माध्यम से डीसी पावर (एकदिश धारा बिजली)के बिजली प्रवाहित करने से उत्पादित एल्यूमीनियम हाइड्रॉक्साइड के सक्रिय वर्ग के उपयोग सेफ्लोराइड पृथक किया गया।
  • निर्माण के लिए सरल,न्यूनतम रखरखाव के साथ संचालित करने के लिए आसान है
  • 10 मिलीग्राम/एल सांद्रता (कान्सन्ट्रैशन) वाले फ्लोराइड युक्त जल के उपचार के लिए उपयुक्त
  • अन्य उपलब्ध रासायनिक उपचार विधियों के स्थान परस्वच्छ स्वीकार्य पीने योग्य पानी उपलब्ध करता है।
  • उत्पादित कीचड़ की मात्रा परंपरागत उपचार विधियों की तुलना में (60-70%) बहुत कम है
  • उपचारित जल में जीवाणु संक्रमण में भी कमी आती है।
  • प्रति 1000 लीटर के लिए उपचार की लागत केवल ` 25-`30।
  • क्षमता: प्रति बैच 3 से 3.5 घंटे में 2000 लीटर

 

सम्मान

  • इंटरनेशनल वॉटल एसोसिएशन (IWA) द्वारा 2011 में संस्थापितइंटरनेशनल प्रोजेक्ट इनोवेशन अवार्ड (पीआईए) - प्राप्त
  • 30 सफल प्रौद्योगिकियों के बीच में चुना गया तथा डीएसटी-लॉकहीड मार्टिन इंडिया इनोवेशन ग्रोथ पुरस्कार प्राप्त - 2012

 

वर्तमान स्थिति

  • देश में फ्लोराइड प्रभावित क्षेत्रों में ईडीएफ संयंत्रों की स्थापना संबंधीत तकनीकी जानकारी 9कंपनियों को उपलब्ध कराइ गई है।
  • एमडीडब्ल्युएस, भारत सरकार एवं यूनिसेफ की वित्तीय सहायता से एसआईआर-नीरी द्वारा मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढइन दोनों राज्योंमें ईडीएफ प्रदर्शन प्रणाली स्थापित की गई है।
  • विभिन्न राज्यों के जल आपूर्ति विभागों द्वारा लगभग 200 ईडीएफ संयत्र स्थापित किए गया है और अधिक संयंत्र विभिन्न राज्यों के फ्लोराइड प्रभावित क्षेत्रों में स्थापित किए जा रहे हैं।